fbpx

5G download speed in India declines to 280.7 Mbps in Q4 2023: Opensignal


5G download speed in India declines to 280.7 Mbps in Q4 2023: Opensignal

ओपनसिग्नल के अनुसार, 2023 की चौथी तिमाही में भारत में औसत 5G डाउनलोड स्पीड 2023 की पहली तिमाही के 304 एमबीपीएस से गिरकर 280.7 एमबीपीएस हो गई। यह गिरावट 5G डेटा खपत में उल्लेखनीय वृद्धि के कारण है।

5G डेटा खपत और उपयोगकर्ता वृद्धि

5G डेटा में उछाल: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने बताया कि 2023 की चौथी तिमाही में 5G डेटा का उपयोग 12.6% बढ़कर 6239 पेटाबाइट तक पहुंच गया।

सब्सक्राइबर ग्रोथ: 2023 की चौथी तिमाही तक 5G यूजर्स की संख्या बढ़कर 180 मिलियन हो गई। रिलायंस जियो 108 मिलियन उपयोगकर्ताओं के साथ सबसे आगे है, इसके बाद एयरटेल 72 मिलियन के साथ दूसरे स्थान पर है। Jio ने नोट किया कि उसका 5G ट्रैफ़िक उसके कुल मोबाइल डेटा ट्रैफ़िक का लगभग 30% है।

जीएसएमए इंटेलिजेंस का अनुमान है कि 2025 की चौथी तिमाही तक 5जी कनेक्शन 260 मिलियन से अधिक हो जाएंगे, जो सभी मोबाइल कनेक्शनों का 22% है।

डाउनलोड स्पीड पर असर

राष्ट्रव्यापी गिरावट: औसत 5G डाउनलोड स्पीड 2023 की पहली तिमाही में 304 एमबीपीएस से घटकर 2023 की चौथी तिमाही में 280.7 एमबीपीएस हो गई।

पीक आवर स्पीड: ओपनसिग्नल ने 2023 की पहली तिमाही की तुलना में 2024 की पहली तिमाही में पीक आवर्स (रात 9 बजे से 12 बजे तक) के दौरान 5जी स्पीड में उल्लेखनीय कमी दर्ज की। यह मुख्य रूप से स्ट्रीमिंग, गेमिंग और ऑनलाइन शॉपिंग के लिए शाम के बढ़ते उपयोग के कारण है।

एयरटेल का 5G प्रदर्शन

निवेश और नेटवर्क विस्तार

एयरटेल ने अपनी क्षमता निवेश को पूरी तरह से 5G में स्थानांतरित करके अपने 4G निवेश को रोक दिया।

कंपनी के पास लगभग 43,100 नेटवर्क साइटें और 55,982 किमी फाइबर तैनात हैं, जो उच्च गुणवत्ता वाली सेवा बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। एयरटेल 5G नॉन-स्टैंडअलोन (NSA) तकनीक का उपयोग करता है, जो 4G कोर नेटवर्क पर निर्भर करता है।

नेटवर्क विकास

भारत में वर्तमान में 446,000 5G बेस स्टेशन (BTS) हैं, जो प्रति 100,000 जनसंख्या पर 31 BTS के बराबर है। इसकी तुलना में, कोरिया में 593 और यूरोपीय संघ में 103 हैं, जो दर्शाता है कि भारत में विकास की गुंजाइश है।

क्षेत्रीय प्रदर्शन

पंजाब, मुंबई और दिल्ली को छोड़कर अधिकांश क्षेत्रों में एयरटेल का 5G प्रदर्शन बेहतर हुआ।

औसत 5G डाउनलोड स्पीड 2023 की पहली तिमाही में 260.4 एमबीपीएस से बढ़कर 2024 की पहली तिमाही में 273.6 एमबीपीएस हो गई। इसी अवधि में एयरटेल की 5G उपलब्धता 12.5% ​​​​से बढ़कर 20.7% हो गई।

Jio का 5G प्रदर्शन

देश एवं प्रादेशिक गति

Jio की घरेलू 5G डाउनलोड स्पीड 2023 की पहली तिमाही में 323.6 एमबीपीएस से गिरकर 2024 की पहली तिमाही में 261.8 एमबीपीएस हो गई। सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र उत्तर प्रदेश, असम और पश्चिम बंगाल थे।

बेहतर उपलब्धता

मंदी के बावजूद, Jio की 5G उपलब्धता Q1 2023 में 34.9% से बढ़कर Q1 2024 में 64.9% हो गई।

यह सुधार Jio के लो-बैंड स्पेक्ट्रम (700 मेगाहर्ट्ज और 3.5 गीगाहर्ट्ज) के विस्तारित उपयोग के कारण है, जो 2023 की पहली तिमाही में लगभग 10% से बढ़कर 2024 की पहली तिमाही में 18% से अधिक हो गया।

Jio भारत में 700 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम तक पहुंच वाला एकमात्र ऑपरेटर है। इससे नेटवर्क पहुंच में सुधार होता है लेकिन डाउनलोड गति धीमी हो सकती है।

भविष्य की संभावनाओं

ओपनसिग्नल भारत में 5जी प्रदर्शन की निगरानी करना जारी रखेगा, खासकर जब वोडाफोन आइडिया (वीआई) अपनी 5जी सेवाएं लॉन्च करने की तैयारी कर रही है।

25 जून, 2024 को होने वाली 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी में 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज, 2500 मेगाहर्ट्ज, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज बैंड शामिल हैं। 96,317.65 करोड़।

स्रोत

Leave a Comment